खाद्य एवं रसद विभाग

खाद्य एवं रसद विभाग द्वारा संचालित योजनाओं में गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को पात्रता के आधार पर अन्त्योदय/पात्र गृहस्थी राशन कार्ड निर्गत कर उन्हें सस्ते दर पर खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाता है। इसके अतिरिक्त वर्ष 2016 से केन्द्र सरकार द्वारा जारी 2011 जनगणना सूची के अनुसार प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना संचालित की जा रही है।

अन्त्योदय अन्न योजना-

  • गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार
  • अति गरीब निराश्रित महिला, वृद्ध महिला, विकलांग महिला, कच्चा मकान हो, आय का कोई श्रोत न हो
  • अन्त्योदय योजना के 36022 राशन कार्ड शासन द्वारा निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष जारी है।
  • अन्त्योदय योजनान्तर्गत कुल 35 किग्रा0 खाद्यान्न (20 किग्रा0 गेहूं एवं 15 किग्रा0 चावल) गेहूं का मूल्य रू0 02 किग्रा0 तथा चावल का मूल्य रू0 03 किग्रा0 प्रति कार्ड की दर से वितरण कराया जाता है।

पात्र गृहस्थी योजना (ग्रामीण क्षेत्र)-

  • भिक्षावृत्ति करने वाले, घरेलू कामकाज करने वाले, जूते चप्पल की मरम्मत करने वाले, फेरी लगाने वाले, खोमचे वाले, रिक्शा चालक, कुष्ठ रोग से प्रभावित/एडस से पीडित
  • अनाथ/माता-पिता विहीन बच्चे, स्वच्छकार, दैनिक वेतन भोगी मजदूर यथा- कुली, पल्लेदार, भूमिहीन मजदूरों के परिवार, ऐसे परिवार जिनका मुखिया निराश्रित महिला, विकलांग अथवा मानसिक रूप से विक्षिप्त व्यक्ति हो एवं इस परिवार में कोई अन्य बालिग पुरूष नहीं हो आवासहीन परिवार एवं ऐसे परिवार जिनके स्वामित्व में 30 वर्ग मी0 क्षेत्रफल तक के ऐसे कच्चे आवास हो जो उनकी निजी भूमि पर हो तथा जिनमें वे स्वयं निवास करते हों, ट्रांसजेण्डर कम्यूनिटी के सदस्य (अर्थात किन्नर) यदि वे एक्सक्लूजन क्राइटेरिया में न आते हों।
  • पात्र गृहस्थी योजनान्तर्गत ग्रामीण क्षेत्र में 159137 राशन कार्ड प्रचलित हैं, जिसमें 627347 यूनिट सम्मिलित हैं।
  • पात्र गृहस्थी योजनान्तर्गत कुल 05 किग्रा0 खाद्यान्न (03 किग्रा0 गेहूं एवं 02 किग्रा0 चावल) प्रति यूनिट, गेहूं का मूल्य रू0 02 किग्रा0 तथा चावल का मूल्य रू0 03 किग्रा0 प्रति कार्ड की दर से वितरण कराया जाता है।

पात्र गृहस्थी योजना (शहरी क्षेत्र)-

  • कुष्ठ रोग से प्रभावित/एडस से पीडित, अनाथ/माता-पिता विहीन बच्चे, परित्यक्त महिलाएं, कचरा ढोने वाले/स्वच्छकार, भिक्षावृत्ति, घरेलू कामकाज, जूते-चप्पल की मरम्मत, फेरी लगाने वाले-खोमचे वाले, रिक्शा चालक, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति एवं तत्पश्चात अन्य वर्गों के भूमिहीन मजदूरों के ऐसे परिवार, जिनके मुखिया दैनिक वेतन भोगी मजदूर यथा- कुली पल्लेदार हो, गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार (राजस्व विभाग के अद्यावधिक आय प्रमाण पत्र- के आधार पर), ऐसे परिवार जिनका मुखिया निराश्रित महिला या विकलांग अथवा मानसिक रूप से विक्षिप्त व्यक्ति है एवं इस परिवार में कोई अन्य बालिग पुरूष नहीं है, आवासहीन परिवार, ऐसे परिवार, जो ऐसे आवासों में रहते है, जिनकी छत पक्की न हो, ट्रांसजेण्डर कम्यूनिटी के सदस्य (अर्थात किन्नर) यदि वे एक्सक्लूजन क्राइटेरिया में न आते हों।
  • पात्र गृहस्थी योजनान्तर्गत शहरी क्षेत्र में 28341 राशन कार्ड प्रचलित हैं, जिसमें 120144 यूनिट सम्मिलित हैं।

खाद्यान्न-

पात्र गृहस्थी योजनान्तर्गत कुल 05 किग्रा0 खाद्यान्न (03 किग्रा0 गेहूं एवं 02 किग्रा0 चावल) प्रति यूनिट, गेहूं का मूल्य रू0 02 किग्रा0 तथा चावल का मूल्य रू0 03 किग्रा0 प्रति कार्ड की दर से वितरण कराया जाता है।

मिटटी तेल-

  • जनपद में प्रचलित अन्त्योदय राशन कार्डों पर 3.5 लीटर मिटटी तेल का वितरण कराया जाता है।
  • जनपद में प्रचलित पात्र गृहस्थी राशन कार्डों पर 2 लीटर मिटटी तेल का वितरण कराया जाता है।

डबल फोर्टिफाइड नमक-

जनपद को कुपोषण से मुक्त करने हेतु शासन द्वारा डबल फोर्टिफाइड नमक का वितरण कराया जा रहा है। डबल फोर्टिफाइड नमक का विरण प्रति राशन कार्ड में तीन यूनिट तक 01 किग्रा0 तथा तीन यूनिट से अधिक पर 02 किग्रा0 वितरण कराया जाता है। डबल फोर्टिफाइड नमक का मूल्य अन्त्योदय योजनान्तर्गत रू0 03 किग्रा0 प्रति पैकेट तथा पात्र गृहस्थी योजना पर रू0 06 प्रति किग्रा0 प्रति पैकेट की दर से वितरण कराया जाता है।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना-

  • प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत उन परिवारों का चयन किया जाता है, जो अन्त्योदय राशन कार्ड धारक हों, अनुसूचित जाति/जनजाति वर्ग का परिवार हो, प्रधानमंत्री आवास योजना से लाभान्वित हो, भारत सरकार द्वारा उपलब्ध कराये गये सामाजित आर्थिक जनगणना में सम्मिलित हो।
  • जनपद में वर्ष 2016 से प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना प्रभावी है। इसके अन्तर्गत अब तक सामाजिक आर्थिक जनगणना में सम्मिलित 46103 परिवारों को गैस कनेक्शन से लाभान्वित किया जा चुका है तथा 19523 परिवारों को उज्ज्वला प्लस योजना के तहत गैस कनेक्शन निर्गत किया गया है। इस प्रकार जनपद में कुल 65626 परिवारों को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन से लाभान्वित किया जा चुका है।